गेर

From meenawiki
Jump to: navigation, search

यह नृत्य होली के अवसर पर भील पुरूषों के द्वारा किया जाता है।

गैर नृत्य करने वाले पुरूष 'गैरिये 'कहलाते है।

छडियों को आपस में भिडाते हुए गोल घेरे में किया जाने वाला नृत्य है।

उपयोग में ली जाने वाली छड़ी को ' खाण्डा' कहते है।


यह लेख एक आधार है। इसे बढ़ाकर आप मीणा विकिपीडिया की सहायता कर सकते हैं।