जोधा मीणा

From meenawiki
Jump to: navigation, search

बाबा जोधा मीणा

शाहजहापुर का बाबा जोधा, सतनामी मिनो का सरदार | घोड़े की सवारी करता चौरी डाका रोकता , सादो का करता सत्कार || मीन्शल के मीन सरदार, करते बाबा जोधा का सम्मान | सभी जात के चेला उसके, करते सत और बाबा का ध्यान || भरपूर परिवार बाबा का, लड़ने आया मुगलों से भीषण जंग | भाई भतीजा सगे साध संग आये, मुगलों से सबने मिल किहनी भारी जंग ||. बाबा की पत्नी ने मीन, महिलाओ का नेत्रित्व किया | संग बाबा के रहकर, भीषण रण में भारी कमाल किया || साध बाबा जोधा ने, बड़ी वीरता से की जंग | एक तीर से दो तीन मारिया, बैरी देख रह गयो दंग || सिकदार को मार भगाया, फोजदार करतल खा का सर काटा | कर नारनौल पर कब्ज़ा, शाही खजाना भी लुटा || लुटे धन को सदावर्त के लिए शाहजहापुर भिजवाया | दूर दूर भेज सन्देश, सतनामी मिनो को लड़ने बुलाया || टोडाभीम साध्पुरा से, मीणा संग लाये जंगी ढोल | बैराठ ,मेवात का मीणा आया, संग लाये मेवन को बोल || मीनावती का मीणा आया. संग लाये रह्कडा | टीडीदल की तरह नारनौल पहुचे, चलाते आये सोतडा || दूर दूर का चेला आया, सुनकर बाबा के बोल | मनसबदार बादशाह के भागे. छोड़ गए जंगी ढोल || बाबा जोधा ने बना चौकिया, मिनो को सतनामी बनाया | नारनौल बैराठ पर हो काबिज सतनामी राज जमाया || बलिदान हुए बाबा, सतनामी सत मान रखवाया | पूजा जाता धड नारनौल , सर भी गाँव पुज्वाया || जग में नाम अमरकर गए 2000 साद, सतनामी मान बढाया | लड़ा युद्ध भारी दुश्मन को महाभारत की याद दिलाया || आदिवासी बाबा जोधा को नमन!!.. -पीएन बैफलावत


यह लेख एक आधार है। इसे बढ़ाकर आप मीणा विकिपीडिया की सहायता कर सकते हैं।