दुगाय माता

From meenawiki
Jump to: navigation, search
निर्माणाधीन दुगाय माता का मंदिर, मलारना चौड़

मीणाओ मे मरमट गौत्र की धराड़ी - झाऊ का पेड़ है और कुलदेवी- दुगाय माता है जिसका प्राचीन स्थान बिसलपुर(टोँक) व गुढ़ा बरथल (निवाई) मे है पर सर्वाधिक मान्यता मलारना चौड़ मे स्थित मरमट गौत्र की कुलदेवी दुगाय ( दुर्गा ) की है जिसका वर्तमान मे नव निर्माण चल रहा है उक्त चित्र के नक्शेनुसार श्री जसराम मीणा के नेतृत्व मेँ मन्दिर बन रहा है लगभग 50 लाख रूपये इक्कठे हो चुके है और लगभग आधार निर्माणकार्य पूर्ण हो चुका है ।

इस मन्दिर की स्थापना चरड़ा चौधरी मीणा मरमट गौत्री ने संवत 801 मे की थी और उसी इस गांव की स्थापना कर अपने बड़े बेटे मल्ला मरमट के नाम पर मलारना चौड़ रखा अब यह मरमटो का सबसे बड़ा गाँव है हर मरमट गौत्र के मीणा आदिवासी को अपनी कुल देवी का आशिर्वाद लेना चाहिए और अपनी इस परम्परा के संरक्षण के लिए सहयोग भी करना चाहिए सम्पर्क श्री जसराम मीणा - 09460256888


यह लेख एक आधार है। इसे बढ़ाकर आप मीणा विकिपीडिया की सहायता कर सकते हैं।