बूँदी

From meenawiki
Jump to: navigation, search
बूँदी का किला

मीणा जाति के बूँदा नामक सरदार ने इस शहर को बसाया संस्थापक के नाम पर ही इसका नाम बूँदी पड़ा। बाद में हाडा शासक राव देवा ने बूँदा को हराकर बूँदी पर अपना कब्ज़ा कर लिया फिर इसे अपनी राजधानी बनाया। सन १९४७ में आज़ादी मिलने तक बूँदी एक स्वतंत्र रियासत के रूप में कायम रहा।



यह लेख एक आधार है। इसे बढ़ाकर आप मीणा विकिपीडिया की सहायता कर सकते हैं।