मीणा जन-जाति का इतिहास

From meenawiki
Jump to: navigation, search

डा. यशोदा मीणा ने अपने इस ग्रन्थ में मीणा जन-जाति के ऐतिहासिक व सांस्कृतिक विकास पर विशद रूप से प्रकाश डालने का प्रयास किया है। इस ग्रन्थ की संरचना में जयपुर के पोथीखाने व बीकानेर के पुरातत्व अभिलेखागार में विद्धमान पुरातत्व के दस्तावेजों एवं जोधपुर और उदयपुर के संग्रहालयों में संग्रहित सामग्री का सहारा लिया गया है। इनके अतिरिक्त मीणा जन-जाति के विकसित एवं अविकसित ग्रामों में जाकर व्यक्तियों से साक्षात्कार लेकर प्रस्तुत ग्रन्थ को विश्वस्त बनाने का श्रम किया है।

डा. यशोदा मीणा इस ग्रन्थ के लिये बधाई की पात्र हैं।